Ticker

6/recent/ticker-posts

UP Divyang Shadi Yojana 2021 : Apply Online यूपी विकलांग शादी प्रोत्साहन योजना

विकलांग विवाह योजना UP| UP Divyang Shadi Yojana Online Registration| UP Divyang Shadi Yojana Eligibility Criteria| विकलांग विवाह योजना ऑनलाइन आवेदन| UP Divyang Shadi Yojana Beneficiary List|


उत्तर प्रदेश के विकलांगों के उत्थान के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा यूपी दिव्यांग शादी योजना का शुभारंभ किया जाता है। इस योजना के तहत विकलांग आवेदकों के विवाह समारोह के लिए राज्य सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। आवेदक विकलांग व्यक्तियों के अधिकारिता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इस पोस्ट में, हम आपको इस योजना के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। आवेदन प्रक्रिया, पात्रता मानदंड, महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि की चरण-दर-चरण जानकारी के लिए कृपया इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें।

UP Divyang Shadi Yojana

यह योजना विकलांग लोगों के कल्याण के लिए शुरू की गई है। इस योजना की मदद से, विकलांग लोग बिना किसी खर्च के तनाव के साथ शादी करने में सक्षम हैं। विवाह का विस्तार उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। योजना के माध्यम से, यदि नवविवाहित जोड़े दोनों शारीरिक रूप से विकलांग हैं, तो दोनों को योजना का लाभ दिया जाएगा। यूपी विकलांग विवाह योजना के तहत सरकार द्वारा 35,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (DBT) के माध्यम से शादी के लिए दिए गए फंड सीधे बैंक खाते में स्थानांतरित किए जाएंगे।


यूपी विकलांग शादी प्रोत्साहन उद्देश्य योजना

इस योजना का उद्देश्य विकलांग व्यक्तियों का उत्थान है जो उन्हें उनकी शादी के समय वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के कारण राज्य के सभी विकलांगों की शादी नहीं हुई है, विकलांग लोगों को आय की कमी के कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, विकलांग लोगों का जीवन संघर्षों से भरा होता है। इस योजना के माध्यम से सभी नवविवाहित जोड़ों को सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा प्रदान की गई राशि की सहायता से, विकलांग व्यक्ति अपने जीवन में वित्तीय जरूरतों को पूरा करेगा। यह विकलांग नागरिकों के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई एक महत्वपूर्ण पहल है।



यूपी दिव्यांग शादी योजना कार्यान्वयन

यह योजना ऑनलाइन आवेदनों पर आधारित है, इसलिए आवेदक अपने घरों के आराम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना के लिए एक समर्पित वेब पोर्टल भी शुरू किया है। योजना का लाभ लेने के लिए, लाभार्थी के पास बैंक में खाता होना बहुत जरूरी है, और लाभार्थी के पास बैंक खाते को आधार कार्ड से जोड़ना अनिवार्य है। यदि विवाहित जोड़ों में से एक भी मानसिक रूप से विकलांग है, तो उन्होंने भी योजना का लाभ उठाने का हकदार है। इस योजना के तहत, विकलांग विवाहित जोड़े के विकलांग होने और रुपये की वित्तीय राशि के मामले में लड़के को 15 हजार रुपये प्रदान किए जाते हैं। विकलांग होने की स्थिति में लड़की को 20 हजार प्रदान किए जाते हैं।

 

इन्हें भीपढ़े:

 

यूपी दिव्यांग शादि योजना की मुख्य विशेषताएं और लाभ

यहां हम इस योजना की विशेषता और प्रमुख लाभों पर चर्चा कर रहे हैं।

  • राज्य के सभी विकलांगों को यूपी विकलांग विवाह योजना के माध्यम से लाभ मिलेगा
  • की वित्तीय सहायता रु। योजना के तहत युवती को 20,000 प्रदान किए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत लाभार्थी को सीधा लाभ मिलेगा।
  • विकलांग लोगों को शादी करने के लिए किसी अन्य व्यक्ति से मदद नहीं मांगनी होगी।
  • विकलांग युवाओं को 15,000 रुपये की वित्तीय राशि प्रदान की जाएगी।
  • यदि दोनों विवाहित जोड़े शारीरिक रूप से विकलांग हैं, तो योजना के तहत दोनों को 35,000 की वित्तीय राशि प्रदान की जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा पेश किए गए वित्तीय निधियों को प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (DBT) के माध्यम से सीधे बैंक खाते में स्थानांतरित किया जाएगा।
  • योजना के माध्यम से, सभी विकलांग व्यक्ति अपना जीवन सुखपूर्वक व्यतीत कर सकते हैं। 

 


पात्रता मापदंड

सफल पंजीकरण के लिए आवेदकों को पात्रता मानदंड पढ़ने की आवश्यकता है; यहां हम पात्रता मानदंड के बारे में पूरी जानकारी नीचे दे रहे हैं।

  • आवेदक को भारत का नागरिक होना चाहिए
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए
  • आवेदक की विकलांगता 40% से अधिक होनी चाहिए
  • लाभार्थी को अपना विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन के माध्यम से अपलोड करना होगा
  • विकलांग आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए, लेकिन 60 वर्ष से अधिक नहीं।
  • लाभार्थी के लिए किसी मान्यता प्राप्त चिकित्सा स्वास्थ्य केंद्र से विकलांगता प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।
  • आवेदन के समय आवेदक को विकलांग व्यक्ति के लिए किसी अन्य सरकारी विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ नहीं लेना चाहिए।


महत्वपूर्ण दस्तावेज

इस योजना के सफल आवेदन के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण दस्तावेजों की सूची नीचे दी गई है।

  • दोनों विकलांग विवाहित आवेदक का आधार कार्ड
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • विकलांग प्रमाण पत्र
  • विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • संयुक्त बैंक खाता
  • आयु प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र और आवेदकों की 10 वीं कक्षा की मार्कशीट
  • टेलीफोन नंबर
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर


आवेदन प्रक्रिया

यहां हम इस योजना के सफल आवेदन की विस्तृत आवेदन प्रक्रिया प्रदान कर रहे हैं, कृपया आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें।

  • सबसे पहले, विकलांग व्यक्तियों के अधिकारिता विभाग की official website पर जाएं
  • होमपेज आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगा
  • होमपेज पर, आपको रजिस्टर / एप्लिकेशन के लिए नीचे क्लिक करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म का एक नया पेज दिखाई देगा
  • पंजीकरण फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी ध्यान से भरें और सबमिट विकल्प पर क्लिक करें
  • आपके पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है; आपको आगे की आवश्यकताओं के लिए पंजीकरण संख्या को बचाने की आवश्यकता है

 


लॉगिन प्रक्रिया

  • सबसे पहले, विकलांग व्यक्तियों के अधिकारिता विभाग की official website पर जाएं
  • होम पेज आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगा
  • होम पेज पर, आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा
  • लॉगिन फॉर्म में, आपको उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड दर्ज करना होगा और लॉगिन विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • ऊपर दी गई प्रक्रिया से लॉग इन कर सकते है.


हेल्पलाइन नंबर और संपर्क विवरण

आशा है कि आपको इस योजना के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी, यदि आप अभी भी इस योजना के संबंध में किसी समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आप आगे की जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं या आप आधिकारिक ईमेल आईडी पर भी लिख सकते हैं।


हेल्पलाइन नंबर - + 91-522-2287267
आधिकारिक ईमेल आईडी - dir.hwd-up@gov.in
पता - 9 वीं मंजिल, इंदिरा भवन, अशोक मार्ग, लखनऊ

Post a Comment

0 Comments