Phone Tapping Kya hai - फ़ोन टैपिंग क्या है और यह काम कैसे करता है उसके बारे में आज इस आर्टिकल में जानेंगे. अक्सर आप लोगो ने किसी न्यूज चेनल में या फिर Social Media में Phone Tapping के बारे में जरुर चुना होगा. नेताओ या फिर बड़े बड़े फिल्म स्टार के फ़ोन अक्सर टेप होते है. आज हम फोन टैपिंग क्या है, और फ़ोन टेप (Phone Tap) होने से कैसे बचे उसके बारे में बात करने वाले है.


फ़ोन टेप (Phone Tap) कैसे होता है? फ़ोन टैपिंग (Phone Tapping) से कैसे बचे? कैसे पता करे आपका फ़ोन टेप तो नहीं हो रहा? सारी जानकारी आपको निचे इस आर्टिकल में जानने को मिलेगी.


Phone Tapping Kya hai - फ़ोन टेपिंग क्या है और यह काम कैसे करता है
Phone Tapping kya hai


Phone Tapping Kya hai? (What is Phone Tapping in Hindi)

फ़ोन टैपिंग क्या है - उसके बारे में अगर में आपको बताऊ तो जब कोई तीसरा व्यक्ति दो लोगो के बिच फ़ोन में या इंटरनेट पर होने वाली बात को रेकोर्ड करता है या सुनता है तो उसे Phone Tapping कहा जाता है. यह काम व्यक्ति के इजाजत के बिना किया जाता है इस लिए इसे गेरक़ानूनी ठहेराया गया है. इसमें लोगो की Privacy का हनन होता है इस लिए भी इसे गेरक़ानूनी कहा जाता है. इस लिए इसे कुछ खास मामलों के लिए और कुछ समय के लिए इसे इजाजत दी जाती है. 

एसा जरुरी नहीं है की आपका फ़ोन हमेशा टैपिंग होता रहे. हमेशा खास बातो को ही टेप किया जाता है वोभी सरकार की अनुमति होता है. Phone Tapping पोलिस के  द्वारा कोर्ट की आज्ञा लेके किया जाता है. किसी व्यक्ति का फ़ोन टेप करने के लिए पोलिस को कोर्ट के सामने खास कारण (वजह) रखना होता है.

अगर कोर्ट को लगता है की ये सही है तो ही पोलिस को किसी व्यक्ति का फ़ोन टेप करने की अनुमति मिलती है. यह अनुमति कुछ समय के लिए सिमित होती है. जब किसी का फ़ोन टेप (Phone Tap) होता है उस व्यक्ति की Privacy को ध्यान में रखना होता है. इसे कहा पर इस्तेमाल किया गया है और किस वजह से किया गया है उसका रेकोर्ड रखना होता है.


Phone Tapping कैसे होता है? (How does phone tapping happen)

अब बात करते है की फ़ोन टैपिंग कैसे होता है. पहेले जब भारत में तार वाले फ़ोन होते थे तब किसी भी फ़ोन को असानिसे टेप किया जा सकता था. एक रेडिओ फ्रीक्वेंसी की मदद से बहोत ही आसानी से किसी भी फ़ोन में लोगो के बिच होने वाली बात को चुना जा सकता था और रेकोर्ड किया जासकता था. रेडिओ की मदद से टेलीफ़ोन में दो व्यक्ति के भी जोभी बात होती थी उसे रेडिओ स्केनर में लगे माइक्रोफोन की मदद से सुना जाता था. 

पहेले के ज़माने में वायर वाले फ़ोन होने की वजह से फ़ोन को आसानी से टेप किया जाता था लेकिन आज के टाइम में स्मार्ट फ़ोन किसी लाइन से नहीं बलके डिजिटल ट्रासमिशन के माध्यम से चलता है इस लिए इसे कोई आम व्यक्ति द्वारा टेप नहीं किया जा सकता. इसे सिर्फ टेलीकोम कंपनी टेप कर सकती है और वो भी अगर सरकार का आदेश हो तो.


Phone Tapping का कानून क्या है? (What is Law of Phone Tapping)

भारत में फ़ोन टेप का काम इंडियन टेलिग्राफिक एक्ट के तहत आता है. सरकार इस एक्ट के तहत किसीभी व्यक्ति का फ़ोन टेप कर सकती है. लेकिन एसा करने के लिए सरकार को खास वजह बतानी होती है. और सरकार को इसके लिए कुछ नियमो का पालन भी करना पड़ता है.

आपको निचे फ़ोन टैपिंग का क्या कानून है, उसके बारे में बताया गया है.

  • अगर कोई भी व्यक्ति देश की शांति, रक्षा के लिए फ़ोन टैपिंग करता है तो उसे पहले सरकार के पास से अनुमति लेनी होती है. और इसके लिए उसे खास वजह देनी होती है. अगर सरकार को कोई संदेह होता है तो सरकार मना भी कर सकती है.
  • कोई व्यक्ति अगर सरकार की अनुमति से "Phone Tapping" करता है, तो उसे कहा पर उपयोग में लिया जायेगा वो बताना पड़ेगा.
  • जितनी फाइल को टेप किया गया हो उसे सेव करके रखनी होती है.
  • जो फाइल को रेकोर्ड करके रखा गया है उसे काम होने के बाद नष्ट करना जरुरी होता है. 
  • सरकार की अनुमति के बाद आप किसी भी फ़ोन को दो महीने तक ही टेप कर सकते है. अगर आपको दो महीने के बाद फ़ोन टैपिंग चालू रखना हो तो सरकार की अनुमति लेनी होगी.
  • 'Phone Tapping' करने के बाद जोभी फाइल रेकोर्ड की गई है उसे कहा कहा इस्तेमाल किया गया है वो बताना पड़ता है.
  • सरकार द्वारा की गई रेकोर्डिंग की वजह से किसी बेकसूर नागरिक को कोई तकलीफ ना हो उसका ध्यान रखना होता है.

इसे भी पढ़े :- Bogger में free website कैसे बनाये | फ्री में वेबसाइट कैसे बना सकते है

कैसे पता करे फ़ोन टेप (Phone Tap) तो नहीं हो रहा? (Check Phone Tap in Hindi)

आज के इस डिजिटल लाइफ में जितनी आपको सुविधाये मिलती है उतनी ही आपको परेशानी भी होती है. सारी चीजे डिजिटल होने की वजह से लोग अपनी सारी Activity को Social Media में शेयर करते है. उसके वजह से आपको पर्सनल चीजे हेक की जाती है. आजकल लोगो के पर्सनल फ़ोन कोल्स काफी लिक होते है. तो कैसे पता करे आपका फ़ोन टेप तो नहीं हो रहा? निचे आपको चारी माहिती दी गई है.

भारत में लगभग रोज 6000 से ज्यादा फ़ोन टेप होते है. अजा कल आपकी पर्सनल detail लिक होने का खतरा बहोत ज्यादा होता है. एसा इस लिए होता है क्योकि आप अपना ज्यादातर समय इंटरनेट पर गुजारते है और वहा पर आप अलग अलग website को एक्सेस करते है और जब आप किसी Unknown Website में Sing in कटे है तो वहा पर आपके पास से बहोत सारी आपकी पर्सनल चीजे मांगते है. यही से आपकी सारी Details लिक होती है. क्योकि इंटरनेट पर एसी बहोत फ्रोड वेबसाइट होती है जो लोगो की इनफार्मेशन निकालने का काम करती है.

कैसे पता करे फ़ोन टेप तो नहीं हो रहा? तो आपको कुछ संकेतो का ध्यान रखना होगा. निचे आपको बताया गया है की आपको क्या क्या ध्यान में रखना होगा.


  • जब आप किसी व्यक्ति के साथ फ़ोन पर बात कर रहे हो तो आपको बेकग्राउंड में आने वाली आवाज पर ध्यान देना होगा. अगर आपको कोई संदेह हो तो आपको पुलिस में Complain करनी होगी.
  • जब आप किसी के साथ कोई महत्वपूर्ण बात कर रहे तो आपको सतर्क रहना होगा.
  • आपके फ़ोन अगर कोई एक्टिविटी अपने आप हो रही है तो उसकी जांस करे.
  • आपके फ़ोन में Use होने वाले डाटा का रेगुलर निरिक्षण करे.
  • अगर आपके फ़ोन की बेटरी जल्दी काम हो रही हो तो उसके बारे में पता लगाये.

ऊपर दी गई सारी बातो का आपको ध्यान रखना होगा. इसे आप पता कर सकते है कही आपका फ़ोन टेप तो नहीं है. अगर आपको लगता है की आपका फ़ोन टेप (Phone Tap) हो रहा है तो आपको पुलिस स्टेशन में फरियाद करे.



दोस्तों, इस आर्टिकल में  हमने आपको बताया "Phone Tapping Kya hai - फ़ोन टैपिंग क्या है और उसे कैसे बचे" इस लेख को पढ़ने के बाद  अगर आपकी कोई सलाह या सुचन हो तो आप निचे कमेन्ट में जरुर बताये.